donate
Mar
24

राजीव गांधी व नरसिम्हाराव ने रिहा करवाया था एंडरसन को

Posted on 24-03-2015 by Kuldeep Tyagi

  • राजीव गांधी व नरसिम्हाराव ने रिहा करवाया था एंडरसन को

भोपाल । यूनियन कार्बाइड गैस कांड के मुख्य आरोपी वारेन एंडरसन को तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी और केंद्रीय गृहमंत्री पीवी नरसिम्हाराव के मौखिक निर्देश पर ही रिहा किया गया था। इसकी पुष्टि गैस कांड जांच आयोग ने अपनी रिपोर्ट में की है। जस्टिस एसएल कोचर की अध्यक्षता में अगस्त 2010 में गठित आयोग पांच साल की गहन जांच, बयानों और सबूतों के आधार पर तैयार अपनी रिपोर्ट 24 फरवरी को मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव अंटोनी जेसी डिसा को सौंप चुका है।

हालांकि शासन ने अब तक रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया है। नवदुनिया को अधिकारिक सूत्रों से रिपोर्ट के कुछ खास अंश प्राप्त हुए हैं, जिसमें कई अहम बातें सामने आई हैं। सूत्रों का मानना है कि जांच आयोग की रिपोर्ट अगर सरकार सार्वजनिक कर इसकी अनुशंसाओं का पालन करे तो गैस पीडि़तों को लाभ मिल सकता है।

आयोग ने तत्कालीन कलेक्टर मोती सिंह और तत्कालीन एसपी स्वराज पुरी को रिपोर्ट में क्लीनचिट दी है। सिंह व पुरी पर भी एंडरसन को भोपाल से भगाने का आरोप था। जिसे लेकर आयोग का मानना है कि दोनों अधिकारियों ने केवल अपने उच्च अधिकारियों के निर्देशों का पालन किया है। इसमें उनका कोई दोष नहीं है। रिपोर्ट में कहा गया है कि राजीव गांधी व नरसिम्हाराव के मौखिक आदेश पर तत्कालीन केंद्रीय कैबिनेट सचिव ने मप्र शासन के मुख्य सचिव ब्रह्मस्वरूप को फोन पर एंडरसन को छोड़ने के आदेश दिए। तत्कालीन मुख्य सचिव ने थाना हनुमानगंज फोन करके उस समय के टीआई सुरेन्द्र सिंह को मौखिक निर्देश दिए कि वारेन एंडरसन को जमानत दे दी जाए। जमानत के बाद ही मुख्य सचिव के निर्देश पर एसपी स्जराज पुरी एंडरसन को एयरपोर्ट लेकर गए।

 

0 Comment