donate
Mar
24

अमेरिका में भारतीय भाई-बहन को 56 करोड़ मुआवजा

Posted on 24-03-2015 by Kuldeep Tyagi

  • अमेरिका में भारतीय भाई-बहन को 56 करोड़ मुआवजा

न्यूयॉर्क। दस साल पहले एक नाइट क्लब में हुई मारपीट में मैनहटन के सुप्रीम कोर्ट ने क्लब पर मालिकाना हक रखने वाली कंपनी को भारतीय मूल के अमेरिकी भाई-बहन को रिकॉर्ड नौ मिलियन डॉलर (55.95 करोड़ रुपये) का मुआवजा देने का निर्देश दिया है। घटना में दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

अनुज सपरा व आरती सपरा के साथ न्यूयॉर्क के एक नाइट क्लब में जनवरी, 2005 में मारपीट की गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने टेंस कैबरेट कंपनी को अनुज को आठ मिलियन डॉलर (49.74 करोड़ रुपये) व आरती को 6.40 लाख डॉलर (3.97 करोड़ रुपये) मुआवजा के तौर पर देने को कहा। उनके वकील रवि बत्रा ने बताया कि इस केस से न्यूयॉर्क के क्लबों द्वारा नाबालिगों को शराब परोसने का मामला भी उजागर होता है।

उनके मुताबिक ज्यादा शराब पीने से किशोर संतुलन खो बैठते हैं, जिसके कारण हिंसात्मक घटनाएं होती हैं। कई बार तो जान पर भी बन आती है। बकौल बत्रा घटना में दोषी पाए गए मुहम्मद अब्दुल शकूर व मुहम्मद आसिफ नाबालिग थे और क्लब ने उन्हें गैर कानूनी तरीके से शराब परोसी थी।

शकूर व आसिफ द्वारा आरती से बदतमीजी करने पर अनुज ने हस्तक्षेप किया था। क्लब के बाहर दोषियों ने अनुज को खदेड़ कर पकड़ लिया और फिर लोहे के बेसबॉल बैट से उसकी बेरहमी से पिटाई कर डाली। आरती जब भाई को बचाने गई तो उन लोगों ने उनके साथ भी मारपीट की।

घटना में अनुज के सिर व कान में गंभीर चोटें आईं। आरती को भी चोटें लगीं। घटना के कुछ दिनों बाद ही न्यूयॉर्क की एक अदालत ने आसिफ को हत्या के प्रयास में दोषी ठहराया था, शकूर अमेरिका छोड़कर फरार हो गया था।

 

0 Comment