donate
Mar
24

भारती खेर को फ्रांस का सर्वोच्च सांस्कृतिक सम्मान

Posted on 24-03-2015 by Kuldeep Tyagi

 
भारती खेर को फ्रांस का सर्वोच्च सांस्कृतिक सम्मान

नई दिल्ली। चर्चित भारतीय कलाकार भारती खेर को फ्रांस के सर्वोच्च सांस्कृतिक सम्मान 'नाइट ऑफ द ऑर्डर ऑफ आट्र्स एंड लेटर्स' से नवाजा गया है। समकालीन कला क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें यह सम्मान दिया गया।

भारती (46) से पहले बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान, नंदिता दास, ऐश्वर्या राय बच्चन, फोटोग्राफर रघु राय, रंगकर्मी इब्राहिम अलकाजी, दिवंगत हबीब तनवीर और लेखक उपमन्यु चटर्जी को यह सम्मान मिल चुका है।

भारती के पति और जाने-माने चित्रकार एवं मूर्तिकार सुबोध गुप्ता को भी फ्रांस का सर्वोच्च सांस्कृतिक सम्मान मिल चुका है। भारत में फ्रांस के राजदूत फ्रांस्वा गिशर ने भारती को सोमवार को सम्मानित किया। भारती पेंटिंग के अलावा कलात्मक मूर्तियां बनाने के लिए भी जानी जाती हैं। बिंदी के साथ किया गया प्रयोग उनकी पहचान बन चुकी है। चौदह फीट ऊंची प्रतिमा के जरिये नीले स्पर्म व्हेल के दिल को दर्शाया था, जिसकी काफी तारीफ हुई थी।

सम्मान लेने के बाद ब्रिटेन में पली बढ़ीं भारती ने कहा, 'यह पुरस्कार पाकर मैं खुद को सम्मानित महसूस कर रही हूं। मैंने वही गढ़ा जिसे मैं वर्तमान दुनिया में देखना चाहती थी। मैंने कला क्षेत्र या सर्कस में जाने का फैसला छह वर्ष की उम्र में ही कर लिया था।' भारती खेर फिलहाल पति सुबोध के साथ दिल्ली में ही रह रही हैं।

भारतीय मूल के अमेरिकी लेखक को ब्रिटिश अवार्ड

लंदन। भारतीय मूल के अमेरिकी लेखक और उपन्यासकार अखिल शर्मा के चर्चित उपन्यास 'फैमली लाइफ' को ब्रिटिश फोलियो पुरस्कार के लिए चुना गया है। मैन बुकर प्राइज के विरोध में शुरू किया गया यह पुरस्कार ब्रिटेन में अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित फिक्शन श्रेणी की सर्वश्रेष्ठ रचनाओं के लिए दिया जाता है।

दिल्ली में पैदा हुए अखिल शर्मा (43) को अली स्मिथ ने कड़ी टक्कर दी। स्मिथ की रचना 'हाउ टू बी बोथ' को गोल्डस्मिथ और कोस्टा नोवेल पुरस्कार मिल चुका है। छह अन्य उपन्यास भी होड़ में शामिल थे। लंदन में एक समारोह में फोलियो सोसाइटी के ज्यां मार्क रथ ने अखिल को ट्रॉफी और 40 हजार पाउंड (37.17 लाख रुपये) नकद देकर सम्मानित किया। इससे पूर्व चयन समिति के अध्यक्ष एवं लेखक विलियम फिएंस ने सोमवार को इसकी घोषणा की थी।

'फैमली लाइफ' में दिल्ली में जन्मे युवा अजय के जरिये एक भारतीय परिवार की कहानी गढ़ी गई है जो बेहतर जिंदगी की तलाश में दूसरे देश में जाता है। उनकी खोज न्यूयॉर्क के क्वींस में जाकर खत्म होती है। अजय के परिवार में सबकुछ ठीकठाक चल रहा होता है, जब एक दुखद घटना से पूरा परिदृश्य ही बदल जाता है।

0 Comment